शरीर मे पानी की कमी होने के कारण ,लक्षण , और उपाय ।

नमस्कार दोस्तो तो आइये जानते शारीर मैं पानी की कमी होने के कारन, लक्षण ,और उपाए जैसा कि हम जानते है गर्मियों का दिन शुरू हो चुका है। गर्मियों के दिनों में हम सब को बहुत प्यास लगती है। जो लोग घर पर है वो तो प्यास लगने पर पानी का सेवन कर लेते है परन्तु जो लोग काम करने वाले है उनको प्यास लगने पर भी पानी का सेवन समय पर नही कर पाते। जिसके बाद उन्हें स्वास्थ्य से सम्बंधित परेशानियाँ होने खतरा बना रहता है । पानी का सेवन समय समय पर न करने से शरीर मे निर्जलीकरण की समस्या अक्सर बनी रहती है जिसे आप डिहाइड्रेशन के नाम से जानते हैं।

समय समय पर पानी न पीने से शरीर मे पानी की कमी हो जाती है और शरीर मे पानी की कमी के कारण शरीर मे पोषक तत्वों की भी कमी होती है ।

पानी हामरे शरीर के लिए कितना महत्वपूर्ण है ये सब कोई जानता परंतु इस को जानने के बावजूद भी बहुत से लोग आलस के चलते पानी को प्रयाप्त मात्रा मे नही पीते है ।। आपका प्रयाप्त मात्रा मे पानी का न पीना इसका आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य पर बहुत ही नकारात्मक प्रभाव पड़ेगा ।। और कई तरह की स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं होने का भी खतरा बना रहता है ।

ऐसा नही है कि पानी हमारे शरीर मे नमी बनाए रखने का काम करता है। बल्कि ब्रीदिंग और पाचन क्रिया(डाइजेशन) भी पानी की मदद से ही संभव हो पाता है ।।

अगर व्यक्ति को सही तरीके से और सही मूत्र त्याग (यूरिन) न हो तब भी शरीर पर इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है। यानी कि शरीर से जुड़ी लगभग हर क्रिया के लिए हमारे शरीर को किसी रूप मे पानी की आवश्यकता होती है।

शरीर मे पानी की कमी होने का कारण।।

दोस्तो जैसा आप सब जानते है की हमारा शरीर 70 प्रतिसत पानी से बना हुआ है ऐसे मैं पानी हमारे लिये एक मूलभूत जरूरत ही नही बल्कि अपने शरीर को क्रियाशील बनाने का भी एक तरीका है। शरीर मे पानी की होने का एक बहुत बड़ा कारण ये है कि आप प्रयाप्त मात्रा मे पानी का सेवन नही कर पाते जिसके वजह से शरीर मैं पानी की कमी हो जाती है ।

शरीर मे पानी की कमी होने पर देखे जाते है ये लक्षण।।

1. थकान :-

थकान व चिड़चिड़ापन शरीर मे पानी की कमी की ओर संकेत करते है । आपको बता दे कि रक्त और शरीर मे मौजूद अन्य फ्लूईडस प्रमुख रूप से पानी होता है । ऐसे मै जब शरीर मे पानी की कमी हो जाती है तो रक्त गाढ़ा हो जाता है , जिसके कारण हृदय को ऑक्सिजन व अन्य पोषक तत्वो को शरीर मे सर्कुलेट करने के लिए ज्यादे ऊर्जा खर्च करनी पड़ती है और शरीर थका हुआ महसूस करता है,इसलिए यदि आप बिना किसी कारण दिनभर थका हुआ महसूस करते है तो ज्यादे पानी पीना शुरू कर दीजिये।

2. सिरदर्द और चक्कर होना :-

अगर बिना किसी कारण आपका सिरदर्द की शिकायत रहती है तो इसका कारण डिहाइड्रेशन हो सकता है क्योंकि अधिक समय तक शरीर मे पानी की कमी होने मस्तिष्क मे रक्त संचार व ऑक्सिजन की कमी हो जाती है । ऐसे मैं पानी पीजिये और आराम करिये थोड़ी देर बाद आपका सिरदर्द खत्म हो सकता है ।

3. कब्ज़ :-

कब्ज़ दूर करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप फाइबर युक्त भोजन करे । लेकिन अगर इससे भी फायदा न मिले तो अधिक मात्रा मे पानी का सेवन कर सकते है इससे कब्ज मैं आराम मिलेगा ।

यू एस डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ एंड हृयुमन सर्विसेज के अनुसार , पानी फाइबर को और असरकारी बनाता है ,जिससे पाचन क्रिया बेहतर होती है ।

4 असंतुलित कोलेस्ट्रॉल :-

शरीर मे पानी की कमी होने के कारण शरीर मे कोलेस्ट्रॉल का प्रोडक्शन बढ़ जाता है . ऐसा सेल्युलर वाल्स मे मौजूद फ्लूइड को प्रिजर्ब करने के लिए होता है इस प्रक्रिया के करण शरीर मे कोलेस्ट्रॉल का संतुलन बिगड़ जाता है ।

5 यादास्त और एकाग्रता की कमी :-

डिहाइड्रेशन की कमी के कारण शरीर मैं रक्त का प्रवाह कम हो जाता है , जिसके कारण मस्तिष्क को प्रयाप्त मात्रा मे ऑक्सिजन व और अन्य पोषक तत्व नही मिल पाते जिसका दुष्प्रभाव मस्तिष्क की कार्य छमता पर पड़ता है और हमारी याददाश्त व एकाग्रता कम हो जाती है ।।

6 जोड़ो का दर्द :

आपको बता दे कि हमारा कार्टिलेज और स्पाइनल डिस्क 80 प्रतिशत पानी से बना होता है. हड्डियों को एक दूसरे से रगड़ खाने से बचने के लिए शरीर मे पर्याप्त मात्रा मे पानी का होना बहुत आवश्यक है शरीर को हाइड्रेट रखने से हमारे जॉइंट्स किसी भी अक्समात मूवमेंट, जैसे रनिंग, जम्पिंग व लड़खड़ाहट को एब्जॉर्बर कर लेते है, पानी की कमी होने से हड्डियों मे घर्षण बढ़ जाता है, जिससे जोड़ो मै दर्द की समस्या होती है ।।

7 यूरिन का रंग बदलना :-

शरीर मे पानी की कमी होने के कारण मूत्र (यूरिन) का रंग बदल जाता है और इससे हमारे हेल्थ पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है । मूत्र (यूरिंन) का रंग बदलना एक संकेत है शरीर मे पानी कम होने का ।।

8 शुष्क त्वचा , फटे हुए होंठ व रुसी :-

शुष्क त्वचा , फटे होंठ व रूसी होने का एक कारण शरीर मे पानी की कमी भी है । हमारी त्वचा लगातार ब्राह्मा वातावरण के संपर्क में रहती है , इसीलिए शरीर के अन्य अंगों की तुलना मैं पानी को जल्दी खो देती है। इसीलिए त्वचा को पानी की आवश्यकता पड़ती है, यही वजह है की रूखी त्वचा डिहाइड्रेशन की पहली निशानी है , पानी की कमी होने पर पसीना कम निकलता है जिसके कारण जिसके करण शरीर पर एकत्रित गंदगी व तेल बाहर नही निकल पती जिसके कारण हमारी त्वचा रूखी व बेजान होती है अगर आप चाहते कि आपकी त्वचा खिलखिलाती रहे तो पानी से दोस्ती कर लीजिए ।

9 मुह से बदबू :

शरीर मे पानी की कमी का सबसे बड़ा संकेत मुह से बदबू आना है, डिहाइड्रेशन के कारण मुह मे लार का निर्माण कम हो जाता है जिसके करण मुह , दांत व जीभ मैं बैक्टिरिया तेजी से पनपते है जिसके कारण मुह से बहुत गंदी बदबू आती है ।

पानी की कमी को दूर करने का उपाय ।।

शरीर मे डिहाइड्रेशन को दूर करने के लिये कुछ पोषक तत्व जिसका सेवन कर के शरीर मे पानी की कमी को दूर किया जा सकता है ।

1 आलू बुखारे :

गर्मी के दिन मैं आलू बुखारे का सेवन करना आपके लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है । यह फल आपके शरीर मे पानी की कमी को पूरा करता है । आलू बुखारे के अंदर 80 प्रतिशत से अधिक पानी पाया जाता है। इसका सेवन कर के डिहाइड्रेशन को दूर किया जा सकता है ।

2 केला :-

शरीर मे पानी की कमी को दूर करने मे केला कारीगर है केले के अंदर पानी की कमी को दूर करने की छमता होती है । आपके शरीर मे पोटेशियम की कमी, पानी की कमी का मुख्य कारण है । केले के अंदर पोटेशियम बहुत अधिक मात्रा मे होता है जिसका सेवन कर के पानी की कमी को दूर किया जा सकता है ।

3 छाछ :-

गर्मियों के दिनों मैं बहुत से लोगो मे पानी की कमी हो जाती है। पर गबराने की बात नही है पानी की कमी को दूर करने के लिए आप छाछ का सेवन कर सकते है । दरसल छाछ प्राकृतिक रूप से प्रोबायोटिस्क होती है। इसके अलावा , यह पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे खनिजों मै भी उच्च है। शरीर मे पानी की कमी और आत्यधिक पसीने के कारण ये पोषक तत्व कम हो जाते है। इसीलिए आपको गर्मी के दिन मे छाछ का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए ।

4 खीरा :-

गर्मियों के दिनों में आप खीरे का सेवन कर के पानी की कमी दूर कर सकते है । इसका सेवन आप सलाद या जूस के रूप मे भी कर सकते है। खीरे मैं लगभग 95 प्रतिसत पानी पाया जाता है जो डिहाइड्रेशन की समस्या को दूर करने मे मदद करता है । खीरे मैं कैलोरी भी बहुत कम मात्रा मे पाई जाती है इसीलिए यह वजन कम करने मैं भी फायदेमंद है ।

5 गन्ने का रस :-

गन्ने के रस में कैल्शियम, मैग्नेशियम, पोटेशियम, लोहा,और मैगनीज जैसे आवश्यक पोषक तत्त्व महत्वपूर्ण मात्रा मे पाए जाते है । पानी की कमी के कारण शरीर इन पोषक तत्वों की बहुत कमी हो जाती है। गन्ने के रस का सेवन करने से आपको ये सभी इलेक्ट्रोलाइट्स मिल जाते है और ये आपके पूरे शरीर को स्वस्थ रखने मै मदद करता है।

6 तरबूज:-

तरबूज के अंदर 90 प्रतिसत पानी पाया जाता है नियमित रूप से एक प्लेट तरबूज खाने से शरीर मे होने वाली पानी की कमी को दूर किया जा सकता है 150ग्राम तरबूज मैं लगभग 120ग्राम पानी मिलता है।

7 दही:-

यदि आपको दस्त और उल्टी हो रही है तो आपको दही का सेवन करना चाहिए क्योंकि दही उल्टी और दस्त के कारण पानी की कमी को पूरा करता है। क्योंकि दही इलेक्ट्रोलाइट्स का एक अच्छा स्रोत है ।

8 स्ट्रॉबेरी :-

स्ट्रॉबेरी जितने अच्छे होते है उतने स्वस्थ के लिए भी अच्छे होते है इसके अलावा स्ट्रॉबेरी में फाइबर और विटामिन ई पाया जाता है । इसमें उच्च मात्रा मे एंटीऑक्सीडेंट होते है जो किडनी और दिल को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है। इसके अलावा स्ट्राबेरी सोडियम मुक्त, वसा मुक्त, और कोलेस्ट्रॉल मुक्त फल है स्ट्रॉबेरी मैं फाइबर पर्याप्त मात्रा मे पाया जाता है।

9 संतरे:-

गर्मी के मौसम मैं संतरा खाना बेहद फायदेमंद होता है। यह विटामिन सी और खनिजों मै समृद्ध है जो स्वस्थ रखने मैं मदद करते है इसके साथ ही इसमें 80 प्रतिशत तक पानी पाया जाता है जो हमारे शरीर मैं पानी की कमी को पूरा करता है और आपको हाइड्रेट रखता है इसके अलावा इसमें अधिक मात्रा मे एंटीऑक्सीडेंट भी होते है , जो किडनी को स्वस्थ रखने मैं मदद करता है ।

Disclaimer:- blogfit.in एक डिजिटल प्लेटफॉर्म है जो आपको, आपके स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां मुहैया कराता है , और फिटनेस से रिलेटेड जानकारीया भी आपके पास तक पहुचता है । अगर आपके शरीर मे पानी की कमी दूर नहीं हो तो डॉक्टर से एक बार जरूर संपर्क करे।

ध्यानवाद..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *