ब्लैक फंगस क्या है? और इससे लक्षण और बचने के उपाए |

नमस्कार दोस्तों जैसा की हम जानते है ये समय बहुत ही बुरा ही चल रहा है | अभी हम कोरोना महामारी से लड ही रहे थे तब तक एक नई बीमारी ब्लैक फंगस  हामरे बिच आ गई | यह एक फंगल संक्रमण जो की ज्यादेतर कारोना के मरीजो को हो रही है |आज आप को हम बताएँगे की ब्लैक फंगस क्या है और इससे लक्षण और बचने के उपाय | यह संक्रमण ज्यादेतर दूसरी स्वास्थ समस्यों से ग्रसित लोगो को हो रहा है जैसे ( कोरोना का मरीज हो , ICU मै बहुत दिनों से है उनको ये संक्रमण होने का ज्यादे खतरा बना रहता है   

यह बीमारी किसको होने का ज्यादे खतरा है |

यह बीमारी(ब्लैक फंगस क्या है और इससे लक्षण और बचने के उपाए | )कोरोना से संक्रमित , डायबिटिक या अनियंत्रित डायबीटीज ( जो स्ट्रेरायड का इस्तेमाल कर रहे है) तथा ICU मै आधिक समय तक भरती रहने से यह बीमारी हो सकती है | यह संक्रमण भी कोरोना की तरह ही फ़ैल रहा है इससे बचने के लिए मुह पर मास्क और अपने शारीर को अच्छे तरह कपड़ो से ढके रहे | यह ब्लैक फंगस भी बॉडी पार्ट को इन्फेक्ट कर रहा है जैसे कोरोना करता है | 

ये है ब्लैक फंगस के लक्षण |

१.  आख व नाक मैं दर्द

२.  आखो क चारो ओर लालिमा

३.  नाक का बंद होना

४.  नाक से काला या तरल द्रब्ये निकलना

५.  जबड़े की हड्डी मैं दर्द

६.  चहरे मैं एक  तरफ सुजन 

७.  नाक तालू काले रंग का होना 

८.  दात मैं दर्द , दातो का ढीला होना 

९.  आखो से धुधला दिखाई देना 

१०.  शारीर मैं दर्द होना 

११.  त्वचा पर चटके आना 

१२.  छाती मई दर्द बुख्हर आना 

१३.  साँस की तकलीफ 

१४.  खून की उल्टी आना  

१५मानसिक स्थति मई परिवर्तन आदि लक्षण दीखते ही तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे |

कोरोना के मरीज ऐसे बच सकते है ब्लैक फंगस से |

कोरोना के मरीज इन बातो का ध्यान रख के बच सकते है ब्लैक फंगस से | दोस्तों जैसा की हमें पता है ब्लैक फंगस का खतरा ज्यादेतर कोरोना से पीड़ित या कोरोना से ठीक हुए या दूसरी बीमारियों से पीड़ित लोगो को हो सकता है   इससे बचने क लिए  खून मैं शुगर ज्यादे ना होने दे तथा (हाइपरग्लाइसेमिया) से बचे| कोरोना से ठीक हुए लोग ब्लड ग्लूकोज पर नज़र रखे | स्टेरॉयड के इस्तेमाल मैं समय और डोज का पूरा ध्यान रखे | एंटीबायोटिक और एंटीफंगल दवाओ का इस्तेमाल डॉक्टर क परामर्श से ही करे | 

ब्लैक फंगल इन्फेक्शन covid 19 से ठीक होने क बाद ही क्यों होता है |

जैसा की हमें पता हैं की covid 19 के मरीजो को ऑक्सीजन कि कमी होने पर जब ऑक्सीजन जाती है तो उस ऑक्सीजन को हाइड्रेट करने के लिए उसमे पानी डाला जाता है और अगर यह पानी इन्फेक्टेड होगा तो ये फंगल इन्फेक्शन नाक के माध्यम से बॉडी के अंदर चला जाता है जिससे ब्लड क्लॉट ,पैरालिसिस जैसी गंभीर समस्यों कर रूप मैं सामने आती है |

ब्लैक फंगस इन्फेक्शन से बचने के  लिए क्या करे |

.   हाइजिन मेंटेन करे 

.   हमेशा पानी पिने क लिए RO पानी का ही इस्तेमाल करे 

.  अगर diabetic patient है  तो शुगर लेवल को कण्ट्रोल मैं रखे 

.  बिलकुल भी देरी न करे और डॉक्टर की सलाह तुरंत ले   

अगर आपको ब्लैक फंगस क एक भी लक्षण दिखे तो डॉक्टर से तुरंत ही संपर्क करे |

ब्लैक फंगस कहा अटैक करता है |

यह मुख्य रूप से हमारे रेस्पिरेट्री सिस्टम और तंत्रिका तत्रं पर प्रभाव डालता है |यह फंगल स्वसन तंत्र क माध्यम से हमारे शारीर के अंदर  प्रवेश कर जाते है और और ब्रेन को भी इन्फेक्ट करते है |

यह स्पोरस रक्त वाहिकाओ मैं  पहुच कर वृधि करते है और ये फंगल हाइफी( पेड़ जैसी रचना ) बनाते है जिसके कारणब्लड क्लॉट बन जाता है जिससे शारीर की ब्लड सप्लाई पर बुरा प्रभाव पढता है | 

ब्लैक फंगस खतरनाक क्यों है |

यह की बहुत ही रेयर बीमारी है  परन्तु यह जानलेवा इन्फेक्शन भी है |

डायबिटीज या मधुमेह के रोगियों को यह विशेस प्रभावित करता है |

steroids और antibiotic का आधिक सेवन इस फंगल इन्फेक्शन के लिए ट्रिगर का काम करता है , यानि की इन्फेक्शन को बड़ा देता है |  

दोस्तों अगर ब्लैक फंगस का कोई भी लक्षण आपके अंदर  दीखता है तो अपने आप से दावा ना ले एक बार डॉक्टर को जरूर दिखाए |

ये भी पढ़े :

disclaimer:- blogfit.in एक डिजिटल हेल्थ केयर प्लेटफार्म है जो आपके से रिलेटेड ब्लॉग को डालता है और आपको स्वस्थरखने का पूरा प्रयास करता है |      

                       

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *