जाने फेफडों को स्वस्थ रखने वाले आहार और योगा

नमस्कार दोस्तों जैसा की हमें पता है फेफड़ा  शारीर का सबसे महत्वपूर्ण हिसो मैं से एक है , जैसा की आप सब जानते है की कोरोना का खौफ लोगो के बीच कम नही हो रहा है , आज भी कोरोना वायरस से बहुत लोगो की जान जा रही है  क्योंकी यह बीमारी फेफडों से सम्बंधित है , कोरोना वायरस का सीधा प्रहार हमारे फेफडो पर होता है इसीलिए सबसे जरुरी यह है की आप अपने फेफडो को स्वस्थ रखने के लिए  नियमित रूप से व्यायाम करे और स्वस्थ रखने वाले आहार का सेवन करे , भारत मैं रोजाना इससे सम्बंधित मरीजो की संख्या बडती ही जा रही है ,ऐसे मैं सबसे जरुरी यह है की आपको यह पता होना चाहिए की फेफडो के लिए स्वस्थ आहार और योग कौन कौन सा है|  

कोरोना वायरस  मुख्य रूप से मनुष्यों के फेफडो पर हमला कर रहा है और उन्हें संक्रमण के प्रति संवेदनशील बना रहा है | यही वजह है की सबसे ज्यादे कोरोना वायरस के मरीजो की मौत इनहेलेशन (सांस सम्बंधित दिक्कते) की वजह से हो रही है इसीलिए सभी लोगो को फेफडो को मजबूत रखने की आवश्यकता है , ताकि आप इस वायरस को हरा सके | जो लोग पहले से ही बहुत आधिक सिगरते या अन्य किसी धुर्मपान का सेवन करते है , या अस्थमा के रोगी है या फेफडो के कोई रोग से पीड़ित है तो उन्हें अपना बहुत ध्यान रखने की जरूरत है | 

ख़राब फेफड़े के ये है लक्षण

आयए जानते है ख़राब फेफड़े का लक्षण | 

1. सुखी खासी 

2. सांस फूलना 

3. भूक कम लगना

4.  वजन कम होना , शारीर कृषकाय होना 

= पहचान कर मुख्य कारण 

–  टीवी मै बुखार , खांसते समय खून व बलगम आता है , जो इसमे नही होता|

–  दमा व सीओपीडी मे इन्हेलर से फायदे होता है ,इसमे इन्हेलर बेकार 

–  उंगलियों मैं बदलाव

कहने को तो यह फेफड़ो की बीमारी है पर एक प्रमुख्य लक्षण उंगलियों मैं बदलाव हैं | इसमे उंगलियों के अग्र भाग मैं उभार हो जाता है और वह तोते की चोंच की तरह हो जाती हैं | करीब सत्तर फीसदी मरीजो मैं यह लक्षण देखा जाता है |  

फेफड़ो को मजबूत करने के लिए योगा |

1. कपालभाती:-  शारीर मैं ऑक्सीजन की मात्रा को बनाये रखने के लिए कपालभाती काफी कारीगर साबित होता है ,क्योंकी यां सांस से जुड़ा योगाभ्यास है | यह फेफड़ो को मजबूत करने के साथ ही वजन घटने मैं भी कारीगर है , इसके आलवा कपालभाती का रोजाना अभ्यास करने से ब्रोन्काइटिस और निमोनिया जैसी बीमारियों को कोसो दूर रखने मैं भी कारगर है | 

 

फेफडों-img

2. त्रिकोणसन:-  त्रिकोणसन फेफड़ो को मजबूत कर रेस्पिरेटरी सिस्टम को मजबूत करता है इस योगासन से ना सिर्फ फेफड़े बल्कि ,गर्दन ,पीठ और कमर भी मजबूत बनती हैं | यह योगासन आपकी पाचन क्रिया को भी मजबूत रखने मैं भी मदद करता है | 

3. भुजंगासन:- फेफड़ो और दिल की ब्लॉक्ड नसों को खोलने मैं भुजंगासन योगासन काफी कारगर है यह फेफड़ो को मजबूत रखने के  साथ-साथ ही किडनी और लीवर को भी स्वस्थ रखता है | भुजंगासन शारीर का चयापाचय क्रिया को भी दुरुस्त रखता हैं |ऐसे मैं भुजंगासन का रोजाना अभ्यास करना चाहिए|

4. अनुलोम-विलोम:- फेफड़ो को मजबूत रखने के लिए अनुलोम-विलोम काफी कारीगर हैं | इस प्राणयाम को करने से त्वचा सम्बंधित सभी प्रकार की समस्या  दूर हो सकती सकती हैं | साथ ही डायबिटीज वाले मरीजो का शुगर लेवल नियंत्रण रखने मैं भी मदद करता है | 

फेफड़ो को मजबूत बनाने के लिए आहार

दोस्तों जैस की जानते है जब तक हमारे फेफड़े स्वस्थ नही रहेगे तो हमें   सांस लेने मैं बहुत ही ज्यादे दिक्कत होगी | इसीलिए दस्तो फेफड़ो को हमेशा स्वस्थ रखना चाहिए | कई बार स्वस्थ आहार ना लेने के कारण भी हमारे फेफड़ो पर बहुत बुरा प्रभाव पढता है |

दोस्तों आइये जानते है फेफड़ो को स्वस्थ रखने के लिए कुछ बहुत ही अच्छे आहार | 

 

1. काफ़ी:- काफ़ी के शौकीनों के लिए बड़ी खुशखबरी है | आपका सुबह का प्याला आपके फेफड़ो पर एहसान कर सकता है | शोध नियमित काफी और स्वस्थ फेफड़ो के बिच सम्बन्द को इंगित करता है | यह कैफीन के कारण हो सकता है जो विरोधी भड़काऊ गुणों से भरपूर होता है , और पॉलीफेनोल ,जो एंटीओक्सिडेंट का एक उच्च सोत्र भी है |ये सभी फेफड़ो को स्वस्थ रख सकते है | 

2. अखरोट:-  अखरोट का सेवन दिमाग को तेज करता है यह ओमेगा-3 फैटी एसिड का मुख्य स्रोत माना जाता है लेकिन आप मुठी भार अखरोट खाते है तो ये आस्थमा और सांस की अन्य बीमारियों से लड़ने मैं मदद करता है | अखरोट आपके फेफड़ो को स्वस्थ बनाने मैं अहम भूमिका निभाता है | 

3. कैरोटीनायड युक्त खाद्य पदार्थ:- फेफड़ो के स्वास्थय को बनाये रखने वाले आहार मैं कैरोटेनायडस बहुत महत्वपूर्णहोते है यह एंटीओक्सिडेंट एक ब्यक्ति को फेफड़ो के कैंसर के खतरे से बचाता है और ये  अस्थमा के रोगियों के लिए भी फायदेमंद होता है अपने फेफड़ो की कैरोटीनायड की जरुरतो को पूरा करने के लिए गाजर, शकरकंद ,टमाटर , और हरी पत्तेदार सब्जियां खाए |

4. कद्दू की सब्जी :-  बहुत से लोग सीताफल यानि कद्दू को खाना पसंद करते है | लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी की कद्दू बिटा कैरोटिन,ल्यूटिन,और जिएजेथिन जैसे बेहद शक्तिशाली एंटीआक्सिडेंट का बहुत अच्छा स्रोत है | दरअसल कद्दू खाने से आपके फेफड़े भी स्वस्थ रहते है कद्दू मैं शक्तिशाली एंटीइम्लेमेंटरी गुण होते है , जो फेफड़ो की गंभीर बिमारिओं के खतरे को कम करते है| 

5. ब्रोकली :- ब्रोकली मैं बिटामिन-सी सामग्री ,कैरोटेनायडस , फोलेट, और फाईटोकेमिकल्स आदि होते है , जो फेफड़ो मैं हानिकारक पदार्थो से लड़ते  है| इसीलिए स्वस्थ फेफड़ो के लिए ब्रोकली का सेवन करना चाहिए| यह आपको पूरी तरह से स्वस्थ रखने मैं मदद करेगा | 

6. जामुन :- ब्लूबेरी और स्ट्राबेरी जैसे लाल और नीले फल एनथोसायनिंन नमक फ्लेवोनोइड से भरपूर होते है ये आपके फेफड़ो को स्वस्थ रखने मैं मदद करते है | शोध बताते है की यह वर्णक आपके फेफड़ो की पप्राकृतिक गिरावट को कम कर सकता है | फेफड़ो की सेहत के लिए जामुन का सेवन बहुत अच्छा माना जाता है | इसे डाइट मैं शामिल करें | 

7. टमाटर :-  टमाटर तो खाते सभी है , अगर आप फेफड़ो की बीमारीयों से बचना चाहते है तो आपको टमाटर का सेवन बडाना चाहिए | दरअसल टमाटर मैं लाईकोपीन नामक एक तत्व होता है जो एक प्रकार का कैरोटीनायड एंटीओक्सीडेंट है | ये आपके फेफड़ो को स्वस्थ रकने क लिए लाईकोपीन भी एक योगिक का काम करता है शोध मैं पाया गया है की जो लोग आधिक टमाटर खाते है उन्हें सांस की बीमारी और सांस की समस्या होने का खतरा बहुत कम होता है | टमाटर फेफड़ो को स्वस्थ रखता है इसीलिए टमाटर आस्थमा के मरीजो के लिए फायदेमंद माना जाता है | 

8. हल्दी :-  किसी भी संक्रमण और वायरस में हल्दी का प्रयोग आपको स्वस्थ रखने मैं मदद करेगा | हल्दी आपकी रोग प्रतिरोधक छमता को बढाती है , संक्रमण से बचाती है और शारिर को स्वस्थ रखती है | हल्दी मैं बहुत शक्तिशाली एंटीओक्सिडेंट होते है | हल्दी मई करक्यूमिन सबसे महत्वपूर्ण सक्रीय योगिक है , जो फेफड़ो के लिए बहुत महत्वपूर्ण है || 

disclaimer :- blogfit.in आपके लिए हेल्थ से रिलेटेड जानकारिया आपके पास ब्लॉग के मध्यम से पहुचता है | आपको हमारा बताया गया सुझाव कैसा लगा कमेंट कर के जरुर बताये ||

                       

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *