क्यों होता है साइटिका दर्द – जाने इसके लक्षण और इससे बचने के घरेलू नुस्खे

क्यों होता है साइटिका दर्द – जाने इसके लक्षण और इससे बचने के घरेलू नुस्खे

साइटिका दर्द असहनीय होता है। कमर से संबंधित नसों में से अगर किसी एक में भी सूजन आ जाए तो पूरे पैर में असहनीय दर्द होने लगता है, जिसे साइटिका कहा जाता है। यह दर्द रीढ़ की हड्डी से शुरू होकर टांगों के निचले हिस्‍से तक जाता है।

साइटिका दर्द के सामान्य लक्षण यह है की कुछ मरीजों को छींकते, खांसते और हंसते समय दर्द होने लगता है। और कुछ लोगों को लगातार खड़े होने, झुकते समय या बैठे रहने के भी वजह से भी दर्द होता है। अगर आपको लंबे समय तक कमर, बैक या टांगों के अकड़ने की समस्या हो या फिर मूत्र अथवा शौच की दिक्कत हो तो आपको तुरंत ही डॉक्‍टर से संपर्क करना चाहिये।

क्यों होता साइटिका का दर्द:

  • इसका मुख्य कारण सायटिक नर्व होती है। यह वह नर्व है जो रीढ़ के निचले भाग से निकलकर घुटने के पीछे की ओर से होती हुई पैर की ओर जाती है। जब शरीर को देर तक एक ही स्थिति में रखा जाता है तो सायटिका का दर्द बढ़ जाता है। यह दर्द असहनीय होता है।
  • अकसर यह समस्या उन लोगों में होती है जो बहुत समय तक एक ही जगह पर बैठ कर काम करते हैं या बहुत अधिक चलते हैं।
  • अत्यधिक मोटर साइकिल और स्कूटर चलाने से भी सायटिक नर्व पर दबाव पड़ता है।
  • यह समस्या ज्यादातर व्यस्को में ही देखी जाती है। लेकिन आजकल मोटापे के कारण युवा भी इसका शिकार बन रहे हैं। और यह बीमारी बरसात या ठंड के मौसम में ज्यादा होती है।

साइटिका दर्द होने के लक्षण

  • कमर में दर्द होना ,
  • हड्डयों में अचानक से अहसनीय दर्द होना ,
  • दर्द की जगह पर सुन्न पड़ जाना,
  • बैठते और लेटते समय दर्द का होना,
  • कूल्हे से लेकर पैर तक लगातार पैर दर्द का होना ,
  • पेर्रों, अंगूठे , और उँगलियों में दर्द के साथ-साथ सुन्न पैन का अहसास होना ,
  • पेर्रोंके पिछले भाग में सिर्फ एक तरफ दर्द होना।

साइटिका के दर्द से बचने के लिए आपको इन बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए

  • घर, ऑफिस या किसी भी जगह पर बहुत देर तक नहीं बैठना चाहिए ,
  • अपनी पीठ पर झुककर बहुत भारी सामान नहीं उठाना चाहिए ,
  • अगर आपको कुर्सी पर देर तक बैठना पड़ता है तो कमर के पास एक तकिया लगा सकते हैं ,
  • अपने खान-पान पर ध्यान दें और सर्दियों में गर्म कपड़े पहनें और रोज थोड़ी देर बॉडी जरूर स्ट्रेच करें ,
  • दर्द होते समय ज्यादा काम न करे ,
  • ज्यादा मुलायम गद्दे पर न सोये 
  • गर्म पानी के थैली से दर्द वाली जगह पर सिकाई करे ,
  • कोई भी भारी सामन न उठाये 
  • वेस्टर्न टॉयलेट का इस्तेमाल करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *